हिंदी दिवस पर निबंध www.theeleganceart.com
Posted on: September 4, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

हिंदी दिवस पर निबंध | HINDI DIWAS PAR NIBANDH

हिंदी दिवस पर निबंध 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया था। 1952 के उपरांत हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस हर संस्थान, स्कूल, कॉलेजों में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इसी के परिणाम स्वरूप आज वैश्वीकरण के दौर में हिंदी विश्व मानव पटल पर एक अति उत्तम व प्रभावशाली भाषा बन कर उभरी है। आज सर्वाधिक विश्वविद्यालयों में हिंदी भाषा पढ़ाई…

Ram mandir ayodha www.theeleganceart.com
Posted on: August 11, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

अयोध्या राम मंदिर पर कुछ पंक्तियाँ |

  कब अवतार तुम्हारा होगा कब जन्मोंगे फिर तुम राम कब बजेगी पद पैजनिया कब दर्शन होंगे अभिराम Kab avtar tumhara hoga kab janmoge phir tum ram Kab bajegi pairo painjiniya Kab darshan honge abhiram मन में भाव तुम्हारे जागते जीवा पर बस तेरा नाम तेरी बात निहारे आंखें कब आओगे मेरे राम ALSO READ:AMAZING SAD SHAYRIES Man main bhav tumhare jaagte Jivha pr bas tera naam Teri baat nihare…

Ram mandir ayodha www.theeleganceart.com
Posted on: August 7, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

Poem on Ram Mandir Ayodhya | राम मंदिर पर कविता

राम महिमा राम विष्णु का अवतार है, कर्ण आधार है, राम धरा पर अवतरित हुए भक्तों का प्यार है। राम संसार की शिरोमणि, विश्वास की माला है, जिनके अंतर्मन में गंभीर समुद्र सा स्नेह और ज्वाला है। राम नियम है, त्याग है ,आदर्श की प्रतिमा है, राम लोक की मर्यादा है ,भक्तों की महिमा है। राम दशरथ नंदन हे ,अंतर्यामी है, परमात्मा है, राम पृथ्वी पर मनुष्य के रूप में…

sad love shayari in hindi www.theeleganceart.com
Posted on: August 7, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

Sad love shayari in hindi | हिंदी-शायरी

तकलीफ मिट गई एहसास रह गया खुश हूं मैं कुछ तो मेरे पास रह गया Takleef mit gayi ehsaas rh gaya khush hu mae kuch to mere pass rh gya आज आईना भी बोला हमसे तुम्हारा दर्द नहीं छुपा पा रहा हूं मैं तुम्हारे होठों पर वो छुठी मुस्कान दिखा नहीं पा रहा हूं मैं दिल तुम्हारा किस बात से है टूटा जो पहचान भी नहीं पा रहा हूं मैं…

Sad shayari www.theeleganceart.com
Posted on: August 2, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

SAD SHAYARI IN HINDI | HINDI SHAYARI | हिंदी शायरी

  खामोशियां बोल देती है जिनकी बातें नहीं होती इश्क तो वो भी करते हैं जिनकी मुलाकाते नहीं होती|| Khaamoshiyaa bol deti hai Jinki baate nahi hoti Ishq to wo bhi karte hai Jinki mulakaate nahi hoti अगर तुम अजनबी हो तो लगते क्यों नहीं अगर तुम मेरे हो तो मिलते क्यों नहीं|| Agar tum ajnabi ho Toh lagte kyo nahi Agar tum mere ho Toh milte kyo nahi जिंदगी…

Sad Shayaris In Hindi|Sad Status www.theeleganceart.com
Posted on: July 30, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

Sad Shayaris In Hindi|Sad Status|हिंदी-शायरी

  कभी तो मिल पहली मुलाकात की तरह, बिगड़ा ही रहता है क्यों हालात की तरह| वो एक शख्स जो लगे जान से भी प्यारा, वक्त तो देता है मगर खैरात की तरह|| Kabhi to mil pheli mulakaat ki tarha Bigda he rheta hai kyo halat ki tarha Wo ek shaks jo lage jaan se bhi pyaraa Waqt to deta hai magar kheraat ki tarha   आंसू आ जाते हैं…

Sad Shayaris In Hindi|Sad Status|हिंदी-शायरी www.theelegancearet.com
Posted on: July 30, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

Sad Shayaris In Hindi | हिंदी शायरी

  तुम कहते हो दिल खोल दो सब बोल दो ऐसा करने से अच्छा लगता है मैं कहती हूं दिल खोल दो सब बोल दो मगर सुनने के लिए भी तो दिल लगता है|| Tum khete ho dil khol do sab bol do Aesa karne se achaa lagta hai Mae kheti hu dil khol do sab bol do Magar sunne ke liye bhi to dil lagta hai   मुसाफिर कल…

रक्षाबंधन पर कविता www.theeleganceart.com
Posted on: July 8, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

रक्षाबंधन पर कविता – 3 Most Popular Poem on Raksha Bandhan

प्रिय मित्रों,जैसा कि हम सब जानते हैं इस समय हम सब कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहे हैं लेकिन इन सबके बावजूद त्योहारों का एक अपना मौसम है विशाल रूप में ना सही सूक्ष्म रूप में तो मना सकते हैं ताकि हमारी परंपराएं रीति रिवाज हमेशा बनी रहे लेकिन उससे पहले हमें अपने अपने अपने स्वास्थ्य का भी ख्याल रखना है अगर हम स्वस्थ हैं तो कोरोना जैसी महामारी भी…

fathers day www.theeleganceart.com
Posted on: June 21, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

Fathers day poem

” प्यार पिता का होता है “ सागर की गहराई सा,लहरों की ऊंचाई सा,कुछ खारा कुछ मीठा साप्यार पिता का होता है। वृक्षों सा जो सख्त रहे,पत्तों जैसा कोमल हो,अंतर्मन एहसास भराप्यार पिता का होता है। पुस्तक में अंकित शब्दों सा,अनुभवी और एहसासों सा,मन को जो उद्वेलित कर देप्यार पिता का होता है। आंसू को हंस के पी ले ,बच्चों की जिद में जी ले,संयम और संतोष भराप्यार पिता का…

Sad shayari www.theeleganceart.com
Posted on: May 17, 2020 Posted by: Niharika Garg Comments: 0

बेटी पर कविता – Poem on Daughter

                                                                       ‘बेटियां’ ओस की एक बूंद सी होती है बेटियां स्पर्श खुरदरा हो तो रोती हैं बेटियां रोशन करेगा बेटा एक कूल तो दो-दो कुलों की लाज होती है बेटियां कोई नहीं होता एक दूसरे से…